Breaking News फर्श से अर्श तक

आदर्श आचार संहिता तथा व्यय अनुवीक्षण के लिए गठित टीमों के साथ डीएम ने की बैठक

बहराइच  अप्रैल। लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 के दौरान आदर्श आचार संहिता तथा व्यय अनुवीक्षण का अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने के उद्देश्य से गठित विभिन्न टीमों को सम्बोधित करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी शम्भु कुमार ने निर्देश दिया कि सभी टीमें आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करायेंगी परन्तु इसके लिए किसी भी आम नागरिक को कोई असुविधा न हो। सभी टीमें अपने-अपने क्षेत्र के सहायक रिटर्निंग आफिसर्स के साथ समन्वय बनाकर अपने अनुभव और विवेक का उपयोग करते हुए  उत्तरदायित्वों का निर्वहन करेंगे। 
श्री कुमार ने गठित टीम के सदस्यों विशेषकर फ्लाईंग स्क्वायड (एफ.एस.) टीम को निर्देश दिया गया है कि क्षेत्र के भ्रमण के दौरान ज्यादा से ज्यादा लोगों से सम्पर्क स्थापित कर उन्हें अपने मोबाइल नम्बर उपलब्ध करा दें, ताकि क्षेत्र की कोई भी सूचना आसानी से उपलब्ध हो सके। एफ.एस. टीम का यह भी उत्तरदायित्व होगा कि वह क्षेत्र से प्राप्त होने वाली फीड बैक रिपोर्ट से उच्चाधिकारियों को भी अवगत करायेंगे।
विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने एफ.एस. टीम के सदस्यों को निर्देश दिया कि वह क्षेत्र में अपनी सशक्त उपस्थिति दर्ज कराएं और उनके द्वारा किये गये कार्य धरातल पर दिखाई दें। एफ.एस. टीमों को भोर में और देर रात में विशेष सतर्कता बरतने की हिदायत दी गयी। जिलाधिकारी ने एस.डी.एम. को निर्देश दिया कि एफ.एस. टीमों का बेहतर ढंग से नेतृत्व करें और उन्हें हर स्तर पर मार्गदर्शन देते रहें और टीमों की गतिविधियों पर नज़र रखें। एफ.एस. टीम की रोज़ की कार्यगुज़ारियों की सूचना भी अनिवार्य रूप से प्रेषित की जाय। एफ.एस. टीमों को जिला प्रशासन की ओर से हर संभव सहयोग प्रदान किया जायेगा लेकिन इसके लिए उन्हें आउटपुट देना होगा।
श्री कुमार ने निर्देश दिया कि अपने-अपने विधान सभा क्षेत्रों में एफ.एस. टीम पूरी तरह भ्रमणशील रह सकें इसके लिए अब हर टीम के पास एक-एक वाहन उपलब्ध रहेगा। एफ.एस. टीम को इस बात की सख्त हिदायत दी गयी कि कोई भी सूचना प्राप्त होने पर त्वरित कार्यवाही करें, कार्यवाही की वीडियोग्राफी अवश्य कराएं। जनपद के सीमावर्ती क्षेत्रों विशेषकर भारत नेपाल सीमा पर विशेष चैकसी बरतने के भी निर्देश दिये गये। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की सीज़र की कार्यवाही में आयोग के दिशा निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय। निर्वाचन से सम्बन्धित सभी प्रकार के रैलियों की अनिवार्य रूप से वीडियोग्राफी करायी जाय।
जिले के सभी एस.डी.एम. को प्रिवेन्टिव एक्शन को तेज़ से तेज़ तर करने के निर्देश दिये गये। कहा गया कि ऐसा करने पर मतदान जैसे कार्य बड़ी आसानी के साथ सम्पन्न हो जायेंगे। अवैध शराब, गोला-बारूद एवं अस्त्र-शस्त्र पर प्रभावी अंकुश के लिए इससे सम्बन्धित प्रतिष्ठानों का स्टाक रजिस्टर के अनुसार सत्यापन करने तथा शस्त्र लाईसेन्स जमा कराये जाने के लिए प्रभावी कार्यवाही करने तथा सम्मन और वारन्ट तामीला कार्य में तेज़ी लाये जाने के निर्देश दिये गये। सभी एसडीएम को निर्देश दिया गया कि राजनैतिक प्रचार-प्रसार के लिए धार्मिक स्थलों का उपयोग कदापि न होने पाये तथा ऐसे कार्याें शैक्षणिक संस्थाओं मंें शैक्षिक कार्य भी कदापि प्रभावित न होने पायें। किसी भी प्रकार अनुमति प्रदान करने से पूर्व स्थान के बारे में पूरी जानकारी अवश्य प्राप्त कर ली जाय।
आबकारी विभाग को निर्देश दिया गया कि समय रहते प्रवर्तन कार्यवाही में तेज़ी लायी जाय और यह सुनिश्चित किया जाय कि निर्वाचन के दौरान किसी भी स्तर पर शराब का दुरूपयोग न होने पाये। अवैध शराब के निर्माण, भंडारण एवं संचरण पर प्रभावी अंकुश के लिए दूरस्थ क्षेत्रों के साथ-साथ सीमावर्ती क्षेत्रों में व्यापक अभियान चलाया जाय। इसके अलावा यह भी सुनिश्चित किया जाय कि शराब की दुकानों के आगे किसी प्रकार हुड़दंग न हो। ऐसे मामलों में यदि युवाओं की संलिप्तता पायी जाय तो उनके अभिभावकों को भी अवगत कराया जाय।
डी.एम. ने कहा कि निर्वाचन कार्य की अपरिहार्यता को देखते हुए निम्न स्तर से लेकर उच्च स्तर तक के सभी अधिकारी अपनी-अपनी जिम्मेदारियों के लिए जवाबदेह हैं, इसलिए सभी को पूरी गम्भीरता के साथ निर्वाचन के कार्य को टीम भावना के साथ सम्पन्न कराना होगा। निर्बाध एवं निष्पक्ष तरीके से निर्वाचन को सम्पन्न कराने में एस.डी.एम. और सी.ओ. की महत्वपूर्ण भूमिका को देखते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि प्रिवेन्टिव कार्यो में तेज़ी लाएं और बूथों का निरीक्षण करते समय बूथवार सूचना संकलित करें। बैठक के दौरान नगर मजिस्ट्रेट जय प्रकाश, वरिष्ठ कोषाधिकारी अशोक कुमार प्रजापति, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 284-मटेरा की वीडियो अवलोकन टीम प्रभारी दीपा गुप्ता व अन्य अधिकारियों ने टीम सदस्यों को महत्वपूर्ण सुझाव दिये।
बैठक का संचालन उप जिला निर्वाचन अधिकारी राम सुरेश वर्मा ने किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अरविन्द चैहान, मुख्य राजस्व अधिकारी प्रदीप कुमार यादव, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण रवीन्द्र सिंह, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी शोभनाथ वर्मा, उप जिलाधिकारी सदर कीर्ति प्रकाश भारती, नानपारा के डा. संतोष उपाध्याय, कैसरगंज के रामजीत मौर्य, महसी के एस.एन. त्रिपाठी, पयागपुर के रामचन्द्र यादव, मोतीपुर के बाबू राम, डीडीओ राजेश कुमार मिश्रा, डीपी मनरेगा शेषमणि सिंह, डीपीआरओ के.बी. वर्मा व अन्य सम्बन्धित अधिकारी तथा विभिन्न टीमों के सदस्य मौजूद रहे।