Breaking News राजनीती होम

धनतेरस के शुभ अवसर पर बालिकाओं को मिली कन्या सुमंगला योजना की सौगात

धनतेरस के शुभ अवसर पर बालिकाओं को मिली कन्या सुमंगला योजना की सौगात

बहराइच 25 अक्टूबर। प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या को समाप्त करने, समान लैंगिंक अनुपात स्थापित करने, बाल विवाह की कुप्रथा को रोकने, बालिकाओं के स्वास्थ्य व शिक्षा को प्रोत्साहन देने, बालिकाओं को स्वावलम्बी बनाने में सहायता प्रदान करने तथा बालिका के जन्म के प्रति समाज में सकारात्मक सोच विकसित करने के उद्देश्य से ‘‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना’’ संचालित की जा रही है।
धनतेरस के शुभ अवसर पर लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कन्या सुमंगला योजना का शुभारम्भ किया गया। उक्त कार्यक्रम के सजीव प्रसारण के लिए राजकीय बालिका इण्टर कालेज बहराइच में आयोजित कार्यक्रम का मुख्य अतिथि सांसद बहराइच अक्षयवर लाल गौड ने माॅ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण के उपरान्त दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर नारी शिक्षा निकेतन की छात्राओं द्वारा सरस्वती वन्दना व स्वागतगीत तथा आर्य कन्या बालिका इण्टर कालेज की छात्राओं द्वारा बेटी बचाओं विषयक नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया गया।
कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि सांसद बहराइच अक्षयवर लाल गौड ने सदर विधायक श्रीमती अनुपमा जायसवाल, नानपारा की श्रीमती माधुरी वर्मा, विधायक पयागपुर सुभाष त्रिपाठी के प्रतिनिधि निशंक त्रिपाठी, जिलाधिकारी शम्भु कुमार, पुलिस अधीक्षक डाॅ. गौरव ग्रोवर, मुख्य विकास अधिकारी अरविन्द चैहान व अन्य अतिथियों के साथ चयनित 31 लाभार्थियों को योजना के तहत प्रदान की जाने वाली धनराशि के प्रतीक चेक का वितरण किया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि सांसद बहराइच ने सभी को धनतेरस व दीपावली की बधाई देते हुए कहा कि हमारे देश में नारी को आदिकाल से शक्ति की देवी के रूप में स्वीकार किया गया है। उसी शक्ति स्वरूप नारी के सम्मान व अभिमान की सुरक्षा के दृष्टिगत दूर दृष्टि रखने वाले देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ की अभिनव पहल पर ‘‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना’’ प्रारम्भ की गयी है। उन्होंने जिले के अधिकारियों विशेषकर जिला विद्यालय निरीक्षक, बेसिक शिक्षा अधिकारी व मुख्य चिकित्साधिकारी का आहवान किया कि योजना को जन-जन तक पहुॅचाये जाने में सक्रिय सहयोग प्रदान करें। श्री गौड ने कहा कि योजना के प्रचार प्रसार हेतु शिक्षण संस्थाओं में वृहद स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया जाय।
सदर विधायक श्रीमती अनुपमा जायसवाल ने कहा कि नारी सशक्तिकरण के क्षेत्र में कन्या सुमंगला योजना मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा कि योजना अन्तर्गत छः चरणों बालिका के जन्म, पूर्ण टीकाकरण, विद्यालय में प्रवेश से लेकर स्नातक तथा डिप्लोमा कोर्स तक बच्चियों को धनराशि प्रदान की जायेगी। विधायक नानपारा श्रीमती माधुरी वर्मा ने कहा कि बालिकाओं के स्वास्थ्य व शिक्षा को प्रोत्साहन देने तथा उन्हें स्वावलम्बी बनाये जाने के लिए यह एक महत्वाकांक्षी योजना है। विधायक पयागपुर के प्रतिनिधि निशंक त्रिपाठी ने कहा कि सामाजिक व्यवस्था से अनछुए व्यक्तियों के लिए केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा अनेकों कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही है, यह योजना भी उसी दिशा में किया गया एक सार्थक प्रयास है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने कहा कि धनतेरस के अवसर पर महिला सशक्तिकरण के लिए प्रारम्भ की गयी कन्या सुमंगला योजना को जनपद में शासन की मंशानुरूप लागू कराये जाने का हर संभव प्रयास किया जायेगा। पुलिस अधीक्षक डाॅ. गौरव ग्रोवर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण के उद्देश्य से बालिकाओं के जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक के लिए अनेकों योजनाएं संचालित की जा रही है। प्रदेश की पुलिस भी महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान के लिए संवेदनशील है। मुख्य विकास अधिकारी अरविन्द चैहान ने सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों से अपेक्षा की कि योजना के लिए अभिभावकों को प्रेरित करें ताकि अधिक से अधिक आनलाइन आवेदन प्राप्त हो सकें। कार्यक्रम के अन्त में जिला प्रोबेशन अधिकारी वी.पी. वर्मा ने योजना की विस्तृत जानकारी प्रदान करते हुए आभार ज्ञापित किया।
कार्यक्रम का संचालन जनता राहत इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य डाॅ. दीन बन्धु शुक्ला ने किया। इस अवसर पर सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा उपलब्ध करायी गयी एलईडी वैन के माध्यम से लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम का सजीव प्रसारण किया गया तथा ‘‘विकास एवं सुशासन के 30 माह विषयक’’ प्रचार साहित्य का वितरण भी किया गया। उल्लेखनीय है कि जनपद के ब्लाक मुख्यालयों पर भी टी.वी. के माध्यम से सजीव प्रसारण कर प्रचार साहित्य का वितरण किया गया।